किसानों पर धामी सरकार मेहरबान, कृषि कार्य करते हुए दुर्घटना में दी जाने वाली सहायता राशि की ढाई लाख

0
90

क्रांति मिशन ब्यूरो

देहरादून।  कृषि मंत्री गणेश जोशी ने विधान सभा स्थित सभागार कक्ष में मण्डी समिति की 36वीं बोर्ड बैठक की अध्यक्षता की। मंत्री ने कहा कि उत्तराखण्ड कृषि उत्पादन विपणन बोर्ड किसानों के हित में कार्य करता है जिसमें किसानों के लिए कृषि कार्य करते हुए दुर्घटना में दी जाने वाली सहायता राशि को 1.50 लाख रूपये से बढ़ाकर 2.50 लाख रूपये कर दिया गया है। उन्होंने कहा कि कृषि से संबंधित योजनाओं के प्रचार प्रसार के लिए एक वैन कुमाऊं मण्डल में चल रही है तथा गढ़वाल मण्डल में भी एक वैन को सुचारू रूप से चलाने के लिए 10 लाख रुपये का प्रावधान किया गया है। मंत्री ने कहा कि कृषकों में जागरूकता लाने के लिए एक नवीन योजना “कृषक उपहार योजना” को लागू किया जा रहा है जिसके लिए वर्ष 2023-24 में 10 लाख रूपये के बजट का प्रावधान किया गया है।

मंत्री ने कहा कि किसानों को उनकी उपज को रखने के लिए तीन कोल्ड स्टोरेज का निर्माण आराकोट, विकासनगर तथा मंगलौर में बनाये जा रहे है। उन्होंने बताया कि आराकोट में बनने वाले कोल्ड स्टोर के निर्माण में आ रही परेशानियों को शीघ्र निस्तारित करने हेतु अधिकारियों को निर्देशित किया गया है। नौगांव में मण्डी बनाने का कार्य अगले एक साल में पूर्ण कर जनता को समर्पित किया जायेगा। उन्होंने कहा कि मण्डी समिति कार्यदायी संस्था के रूप में अन्य संस्थानों के कार्यों को भी करती है। इन कार्यों को सुचारू रूप से चलाने के लिए एक-एक स्थायी डिविजन कुमांऊ तथा गढ़वाल मण्डल में खोली जा रही हैं।

कृषि मंत्री ने मण्डियों की दयनीय स्थिति पर नाराजगी जताते हुए कहा कि मण्डी में सड़कों, पीने के पानी की व्यवस्था तथा शौचालयों के सुधारीकरण का कार्य जल्द से जल्द पूरा किया जाए। उन्होंने कहा कि दुकानों के साईन बोर्ड एक ही तरह के बनाये जाने हेतु अधिकारियों को निर्देशित किया। कृषि मंत्री ने मण्डियों में सफाई की व्यवस्था पर विशेष ध्यान देते हुए कहा कि सभी फड़ों पर कुड़ेदान रखे जाएं तथा उचित कूडा प्रबन्धन की व्यवस्था की जाए।

इस अवसर पर सचिव कृषि दीपेन्द्र कुमार चौधरी, मंडी के एमडी आशीष भटगाई, सचिव वित्त अरुणेन्द्र सिंह चौहान तथा अन्य अधिकारीगण उपस्थित रहे।