पर्यटन मंत्री ने पिंडारी ग्लेशियर और बागची बुग्याल के लिए दल को किया रवाना

0
141
  • पिंडारी ग्लेशियर और बागची बुग्याल को किया गया है ट्रैक ऑफ द ईयर घोषित

क्रांति मिशन ब्यूरो

देहरादून। उत्तराखंड पर्यटन विकास परिषद (यूटीडीबी) की ओर से बागेश्वर जिले के पिंडारी ग्लेशियर ट्रैक और चमोली जिले में बागची बुग्याल ट्रैक को ट्रैक ऑफ द ईयर घोषित किया गया है। बुधवार को गढ़ी कैंट स्थित यूटीडीबी से पर्यटन मंत्री सतपाल महाराज ने दोनों ट्रैक के लिए ट्रेकिंग दल को रवाना किया। टूर ऑपरेटरों को विभाग की ओर से प्रत्येक ट्रेकर को ट्रैक पर किए जाने वाले कुल खर्चे पर 02 हजार रुपये की सब्सिडी भी दी जाएगी।

पर्यटन मंत्री सतपाल महाराज ने बागेश्वर व चमोली से आए एडवेंचर फाउंडेशन के प्रशिक्षणार्थियों को ट्रैक के शुभारंभ के मौके पर बधाई देते हुए कहा कि विंटर ट्रेकिंग डेस्टिनेशन और शीतकालीन पर्यटन को बढ़ावा देने के लिय कार्यक्रम महत्वपूर्ण भूमिका निभाएगा। इसके अलावा इस ट्रैक के माध्यम से विंटर ट्रैकिंग डेस्टिनेशन को केदारकांठा की भांति प्रचारित एवं प्रसारित करना है। साथ ही ट्रैकिंग को बढ़ावा दिए जाने के लिए विभाग द्वारा ट्रैकिंग गाईड ट्रेनिंग भी प्रदान की जा रही है।

वहीं इस मौके पर पर्यटन मंत्री महाराज ने उत्तरकाशी के हर्षिल-छितकुल ट्रैक पर ट्रैकिंग दल के साथ हुए हादसे पर दुख प्रकट करते हुए कहा कि इस तरह के खतरों से बचने के लिए हमें और अधिक सतर्क और सुरक्षित रहना होगा। इस दौरान पर्यटन मंत्री ने माह सितम्बर 2022 में यूटीडीबी द्वारा आयोजित बलजूरी (5922 मी0) पर्वतारोहण अभियान दल का भी स्वागत व प्रमाण पत्र देकर स्वागत किया।

इस मौके पर अपर सचिव पर्यटन सी. रविशंकर, अपर मुख्य कार्यकारी अधिकारी (साहसिक विंग) कर्नल अश्विनी पुण्डीर, अपर मुख्य कार्यकारी अधिकारी अवस्थापना पूजा गर्ब्याल, निदेशक प्रचार व विपणन सुमित पन्त, निदेशक अवस्थापना ले. कमांडर दीपक खंडूरी, अपर निदेशक पूनम चंद, उपनिदेशक योगेंद्र गंगवार, वरिष्ठ शोध अधिकारी एस.एस. सामन्त समेत विभाग के अधिकारी मौजूद रहे।

यह रहेगा ट्रेक का रूट

पिंडारी ग्लेश्यिर के ट्रेक की शुरूआत कुमाऊं के काठगोदाम से होगी, जो खाती, दव्याली, फुर्किए, जीरो प्वाइंट, खाती के बाद खरकिया से होते हुए काठगोदाम में संपन्न होगा। जबकि बागची बुग्याल के ट्रेक की शुरूआत देहरादून के ऋषिकेश से होगी, जो घेश, देवलीखेत से होते हुए बागची बुग्याल के बेस कैंप पहुंचेंगे। जहां से ट्रेकर्स धुलंब होते हुए बागची के टॉप हिमनी पहुंचेंगे।

पर्यटन मंत्री सतपाल महाराज ने कहा कि जल्द ही उत्तराखंड और नेपाल के बीच बुद्धा एयरलाइंस की हवाई सेवा शुरू की जाएगी। अंतरराष्ट्रीय हवाई सेवा के संबंध में पर्यटन मंत्री श्री महाराज ने नेपाल के निदेशक, शोध, योजना और निगरानी नेपाल पर्यटन परिषद के मणि आर लिमिछाने, से फोन पर वार्ता कर इसके लिए उत्तराखण्ड की ओर पूरा सहयोग देने की बात कही। उन्होने बताया कि इस संबंध प्रदेश की मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने भी अपनी सहमति व्यक्त की है।

पर्यटन मंत्री ने कहा कि दोनों देशों के बीच नेपाल की बुद्धा एयरलाइंस सेवा शुरू होने से नेपाल और उत्तराखण्ड की जनता को इसका लाभ मिलने के साथ साथ दोनों देशों के बीच पर्यटन को भी बढ़ावा मिलेगा। इसके अलावा उन्होने कहा कि 22 नवम्बर को उत्तराखंड से श्रीराम बारात नेपाल के जनकपुर जाएगी। बारात देवप्रयाग के रघुनाथ मंदिर से शुरू होगी और लखनऊ होते हुए एक 28 नवम्बर को जनकपुरी पहुंचेगी।

रिसॉट और हट से देख सकेंगे स्टार गेजिंग

उत्तराखंड आने वाले देश-विदेश के पर्यटक जल्द ही यहां के रिसॉट और हट से स्टार गेजिंग देख सकेंगे। पर्यटन मंत्री श्री सतपाल महाराज ने कहा कि प्रदेश में एस्ट्रो टूरिज्म की अपार संभावना को देखते हुए प्रदेश के रिसॉट और हट में स्टार गेजिंग की व्यवस्था की जाएगी।