बड़ी खबर : उत्तराखंड में बागवानी, कृषि एवं अन्य क्षेत्र में कार्य करने के लिए महाराष्ट्र के 200 उद्यमी तैयार, राज्यपाल कोश्यारी ने दी जानकारी

0
263
  • मीडिया से बातचीत में भगत दा ने कहा – जल्द मुख्यमंत्री पुष्कर धामी से वार्ता कर इन प्रयासों को धरातल पर उतारने का कार्य करेंगे

भुवन उपाध्याय

नैनीताल।  महाराष्ट्र के राज्यपाल व प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री जनप्रिय नेता भगत सिंह कोश्यारी ने कहा उत्तराखंड में लघु उद्योग शुरू करने को लेकर महाराष्ट्र के कई उद्यमियों से उनकी वार्ता चल रही है। जल्द ही प्रदेश के मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी  से वार्ता कर इन प्रयासों को धरातल पर उतारने का कार्य करेंगे। उन्होंने कहां कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का उत्तराखंड से खास लगाव है। उन्होंने कहा  पहाड़ के युवा पलायन की रोकथाम को लेकर अपना स्टार्टअप शुरू कर प्रधानमंत्री की इस मुहिम को आगे बढ़ायें।

गुरुवार को महाराष्ट्र के  राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी नैनीताल राजभवन पहुंचे। जहां पर पुलिस ने उन्हें गार्ड ऑफ ऑनर दिया। उसके उपरांत बाद भाजपा कार्यकर्ताओं ने पुष्पगुच्छ देकर भव्य स्वागत किया। महामहिम ने पत्रकार वार्ता करते हुए कि यह उत्तराखंड की जनता का प्रेम और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का उन पर विश्वास है की प्रदेश में संचालित की जा रही कई विकास परक योजनाओं को वह महाराष्ट्र में धरातल पर उतारने का कार्य कर रहे हैं। दोनों प्रदेशों के बीच सामंजस्य बनाते हुए दोनों प्रदेशों को जोड़ने की बात कही है । कहा कि बीते दिनों महाराष्ट्र के कुछ उद्यमियों ने उनसे संपर्क किया है, जो कि उत्तराखंड में बागवानी, कृषि एवं अन्य क्षेत्र में कार्य कर रहे हैं। करीब 200 उद्यमियों ने उनसे उत्तराखंड में लघु उद्योग शुरू करने की मनसा जाहिर की है।  कहा जल्द ही इस संबंध में उत्तराखंड के मुख्यमंत्री से वार्ता कर उद्यमी योजना को धरातल पर उतारा जाएगा।

प्रधानमंत्री उत्तराखंड को विशेष महत्व देते हैं : कोश्यारी 

कोश्यारी ने  कहा कि प्रधानमंत्री उत्तराखंड को विशेष महत्व देते हैं। केदारनाथ पुनर्निर्माण के साथ ही बद्रीनाथ धाम का सुंदरीकरण कार्य किया जा रहा है। उन्हें उम्मीद है कि जल्द कुमाऊं के जागेश्वर, बागनाथ समेत अन्य स्थल भी धार्मिक पर्यटन से जुड़ सकेंगे। अगले पांच वर्षों में टनकपुर से बागेश्वर तक रेल मार्ग की सुविधा स्थापित कर ली जाएगी। इसके उपरांत राज्यपाल महाराष्ट्र भगत सिंह कोश्यारी बतौर मुख्य अतिथि के रूप में कुमाऊं विश्वविद्यालय नैनीताल मे एक दिवसीय उत्तराखण्ड राज्य मे राष्ट्रीय शिक्षा नीति- 2020 लागू होने के उपलक्ष्य मे आयोजित कार्यक्रम मे पहुंचे। जहां पर  राज्यपाल महाराष्ट्र भगत सिंह कोश्यारी, कुलपति प्रोफेसर एनके जोशी, क्षेत्रीय विधायक सरिता आर्य, भीमताल के विधायक राम सिंह कैड़ा ने संयुक्त रूप से दीप प्रज्ज्वलित करते हुए कार्यक्रम का शुभारंभ किया। कुलपति ने पुष्पगुच्छ देकर राज्यपाल का स्वागत करते हुए विश्वविद्यालय की उपलब्धियों की विस्तार रूप से जानकारी दी।

राज्यपाल ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने युवाओं को स्टार्टअप से जोड़ने की पहल शुरू की है। उनका प्रयास है कि वह उत्तराखंड के पहाड़ी क्षेत्र से पलायन की रोकथाम को लेकर कार्य करें। जिसको लेकर उन्होंने युवाओं से स्टार्टअप शुरू करने की अपील की।

राज्यपाल ने कहा कि प्रधानमंत्री का देश को आत्मनिर्भर राष्ट्र बनाना है। संस्कार, शिक्षा और लक्ष्य की जरूरत होती है। जिसके लिए नयी शिक्षा नीति लागू की गई है। उन्होंने ने कहा कि विश्वविद्यालय एक अच्छा काम कर रहा है और आगे भी अच्छा काम करेगा जिससे कि विश्वा विद्यालय का नाम रोशन होगा।

इस दौरान विधायक सरिता आर्य, राम सिंह कैड़ा, डीएम धीराज गर्ब्याल, एसएसपी पंकज भट्ट, कुलसचिव दिनेश चंद्र, एसडीएम राहुल शाह, तहसीलदार नवाजिश खलीक, भाजपा मंडल अध्यक्ष आनंद बिष्ट, मनोज जोशी, दया किशन पोखरिया के साथ ही विश्वविख्यात विद्यालय के शिक्षक, कर्मचारी, छात्र-छात्राएं एवं भाजपा कार्यकर्ता मौजूद रहे।