Big News : जनपद के नगर/देहात क्षेत्र में वृहद स्तर पर चला दून पुलिस का सत्यापन अभियान, बाहरी व्यक्तियों/ किरायेदारों तथा घरेलू काम करने वालों का किया गया सत्यापन

0
36
  • बिना सत्यापन के रह रहे बाहरी व्यक्तियों को पुलिस द्वारा पूछताछ हेतु लाया गया थाने
  • किराएदारों का सत्यापन न कराने वाले 508 मकान मालिकों का पुलिस एक्ट में किया गया चालान, 50 लाख रुपए से अधिक का किया गया जुर्माना
  • अभियान के दौरान कोई वैध दस्तावेज न दिखा पाने वाले 274 संदिग्ध व्यक्तियों को थाने लाकर की गई पूछताछ, 106 व्यक्तियों का पुलिस एक्ट में किया गया चालान
  • एसएसपी देहरादून द्वारा समस्त थाना प्रभारियों के अपने-अपने थाना क्षेत्रों में निवासरत बाहरी व्यक्तियों के सत्यापन हेतु नियमित रूप से सत्यापन अभियान चलाने के दिये गये है निर्देश

क्रांति मिशन ब्यूरो

देहरादून। जनपद के नगर/देहात क्षेत्र में वृहद स्तर पर चला दून पुलिस का सत्यापन अभियान, बाहरी व्यक्तियों/ किरायेदारों तथा घरेलू काम करने वालों का किया गया सत्यापन। बिना सत्यापन के रह रहे बाहरी व्यक्तियों को पुलिस द्वारा पूछताछ हेतु लाया गया थाने। किराएदारों का सत्यापन न कराने वाले 508 मकान मालिकों का पुलिस एक्ट में किया गया चालान, 50 लाख रुपए से अधिक का किया गया जुर्माना। अभियान के दौरान कोई वैध दस्तावेज न दिखा पाने वाले 274 संदिग्ध व्यक्तियों को थाने लाकर की गई पूछताछ, 106 व्यक्तियों का पुलिस एक्ट में किया गया चालान। एसएसपी देहरादून अजय सिंह द्वारा समस्त थाना प्रभारियों के अपने-अपने थाना क्षेत्रों में निवासरत बाहरी व्यक्तियों के सत्यापन हेतु नियमित रूप से सत्यापन अभियान चलाने के दिये गये है निर्देश।

वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक देहरादून अजय सिंह के निर्देशानुसार आज दिनांक 03/07/2024 की प्रातः से जनपद के नगर/देहात क्षेत्र में पुलिस द्वारा पीएसी बल के साथ जनपद में निवासरत बाहरी व्यक्तियों / किरायेदारों के सत्यापन हेतु बृहद स्तर पर सत्यापन अभियान चलाया गया, अभियान के दौरान पुलिस द्वारा पीएसी के साथ अलग- अलग टीमों का गठन करते हुए जनपद में निवासरत बाहरी व्यक्तियों, किरायेदारों, घरेलू नौकरों व अन्य के सत्यापन किये गये।

इस दौरान किरायेदारों का सत्यापन न कराने वाले 508 मकान मालिकों के विरूद्ध 83 पुलिस अधिनियम के अन्तर्गत चालान की कार्यवाही करते हुए 50,80,000/ रूपये का जुर्माना किया गया। मौके पर कोई वैध दस्तावेज न दिखा पाने वाले 274 संदिग्ध व्यक्तियों को पूछताछ हेतु थानों पर लाया गया, जिनके सत्यापन की कार्यवाही करते हुए 106 लोगों के 81 पुलिस एक्ट में चालान कर 25,500/- ₹ का संयोजन शुल्क वसूला गया।