Big News : भाजपा के प्रदेश प्रभारी दुष्यंत गौतम का बड़ा बयान … आगामी दशक के संकल्प का अवलोकन और सीएम धामी को आशीर्वाद है पीएम मोदी के दौरे का उद्देश्य

0
70
  • मीडिया से अनौपचारिक बातचीत में कही गौतम ने यह बात 

क्रांति मिशन ब्यूरो

देहरादून। भाजपा के प्रदेश प्रभारी दुष्यंत गौतम ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के दौरे को लेकर कहा कि पीएम अपने संकल्प उतराखंड को आगामी दशक के श्रेष्ठ राज्य के संकल्प की दिशा मे हो रहे कार्यों के अवलोकन और उन्हे आगे बढ़ा रहे सीएम पुष्कर सिंह धामी को आशीर्वाद देने के लिए आ रहे हैं।

गृह मंत्री अमित शाह के दौरे को लेकर पार्टी मुख्यालय पहुंचे गौतम ने मीडिया से अनौपचारिक बातचीत में कहा कि मोदी जी आगामी दशक को उत्तराखंड का दशक बनाने के संकल्प की दिशा में हुए कामों को परखने और इस दिशा में सीएम धामी के कोशिशों पर आशीर्वाद देने आ रहे हैं।

प्रदेश प्रभारी ने मुख्यमंत्री धामी की प्रशंसा करते हुए कहा कि जिस तरह वह पीएम के विजन के अनुरूप जी-तोड़ प्रयास कर रहे हैं वह सराहनीय है। उन्होंने कहा कि मोदी जी के स्वभाव में ही धार्मिक एवं सामरिक महत्व के स्थानों का दर्शन करना है, वहीं जनमानस उन्हे बहुत प्यार करता है और संरक्षक मानकर उन्हें सुनना चाहता है । जिसके तहत वह पिथौरागढ़ में जनसभा को संबोधित करेंगे ।

प्रदेश प्रभारी ने कहा कि लोगों को दायित्वों का वितरण किया गया है और आगे अन्य नामों पर विचार किया जायेगा। उन्होंने कहा कि मंत्रिमंडल विस्तार के लिए भी पार्टी नेतृत्व विचार कर रहा है ।

मीडिया द्वारा राहुल की तुलना लंकेश से करने पर कांग्रेसी आपत्ति पर कटाक्ष करते हुए कहा उन्होंने कहा कि यह बहुत बड़ा मामला है। उन्होंने कहा कि पहले लोगों को आपत्ति थी जब किसी ने लालू को लंकेश कह दिया था । उनका तर्क था कि लंकेश बहुत ज्ञानी था और ऐसी तुलना रावण का अपमान है । ठीक इसी तरह की पीड़ा लंकेश को मानने वालों को भी होगी कि बुद्धिमान व्यक्ति की तुलना राहुल गांधी से की गई । उन्होंने पलटवार करते हुए कहा कि इस सबकी शुरुआत तो कांग्रेस नेताओं ने ही की थी । उनके राष्ट्रीय अध्यक्ष खड़गे ने मोदी जी को बारह सिर वाला रावण बताया था और युवा मोर्चा अध्यक्ष ने रावण से तुलना की थी । ऐसे अनगिनत मौकों पर कांग्रेस नेताओं द्वारा मोदी जी को लेकर अपमानजनक टिप्पणियां की हैं।

उन्होंने दिल्ली शराब घोटाले की आंच केजरीवाल तक पहुंचने के सवाल पर कहा कि इस पूरे भ्रष्टाचार के पैसों का बंटवारा तो केजरीवाल के घर पर हुआ था । उन्होंने स्वयं कोई विभाग नही लिया, लेकिन अपने सहयोगी मंत्रियों से सब गड़बड़ घोटाला करवाया । लिहाजा आंच ही नहीं केजरीवाल तो स्वयं भ्रष्टाचार मे लिप्त हैं।