Big News… मेयर देहरादून की प्रशंसनीय पहल… शहर को स्वच्छता में नंबर वन बनाने के लिए ‘स्वच्छता चैंपियस’ को किया जाएगा सम्मानित

0
99

क्रांति मिशन ब्यूरो

देहरादून।  महापौर सुनील उनियाल गामा ने देहरादून शहर को स्वच्छता में नंबर वन बनाने के लिए अभियान चलाया हुआ है। मेयर झाड़ू – बेलचा थाने  वार्ड दर वार्ड सफाई अभियान चलाकर स्वच्छता का संदेश दे रहे हैं। इसी क्रम में  स्वच्छता के लिए कार्य करने वालों को प्रोत्साहित करने और अन्य लोगों को भी जागरूक करने के लिए भी मेयर  ने ऐसे लोगों व स्वयंसेवी संस्थाओं को सम्मानित करने की योजना बनाई है।

मेयर ने कहा शहर में ऐसे अनेक स्वच्छता चैंपियंस हैं, जो देहरादून को स्वच्छ और सुंदर शहर बनाने में अपना योगदान दे रहे हैं। यह कुछ ऐसे नागरिक है जो पूरे शहर के लिए एक मिसाल कायम कर रहे हैं, चाहे वो घर से निकले कचरे को अलग करना हो या जैविक कचरे की खाद बनाना हो। कुछ ऐसी संस्थाए भी हैं जो लोगों को जागरूक करने के लिए हर हफ़्ते स्वच्छता अभियान चला रहे हैं और समाज में लोगों को कचरे के प्रति जागरूक कर रहे हैं।

मेयर ने स्वच्छता चैंपियंस कार्यक्रम का शुभारंभ किया

इन सभी स्वच्छता चैंपियंस को सम्मानित करने के लिए नगर निगम से महापौर सुनील उनियाल गामा ने गाँधी पार्क में स्वच्छता चैंपियंस कार्यक्रम का शुभारंभ किया। इस कार्यक्रम में  महापौर ने स्वच्छता की चाबी का भी अनावरण किया, जिससे कुछ चुनिंदा स्वच्छता चैंपियंस को 23 जनवरी, 2023 को सम्मानित किया जायेगा।

इस कार्यक्रम में इंद्रा कॉलोनी से एस.एस. रसाइली, सिद्धार्थ पैराडाइस से सुमति विरमानी और एम बी होम्स से तनुश्री मिश्रा ने लोगों के साथ अपनी स्वच्छता की कहानी भी साझा की।

मेयर सुनील उनियाल गामा द्वारा अपने संबोधन में कहा कि स्वच्छता चैंपियन की खोज या कहें देहरादून शहर को स्वच्छ, सुंदर और हरा- भरा बनाने में जो भी लोग, अपार्टमेंट , होटल ,रेस्टोरेंट ,स्कूल ,कॉलेज ,ऑफिस आदि लगे हुए हैं उनको सम्मान देने की कार्य योजना का उद्गम यहां होने जा रहा है। नगर निगम द्वारा देहरादून शहर के कचरा प्रबंधन हेतु अनेकों कार्य किये जा रहे हैं परन्तु उन सभी चैम्पियंस के अतुल्य योगदान के बिना स्वच्छ दून सुन्दर दून का सपना साकार नहीं हो सकता। इसी क्रम में  यहाँ इसकी शुरुआत की जा रही है। देहरादून मे ऐसे कई नागरिक हैं जो अपने स्तर से ही कचरे का प्रबंधन कर रहे हैं , गीले कचरे से खाद बना रहे हैं, अपने अपार्टमेंट , मोहल्ले ,गली के लोगों को जागरूक कर रहे हैं, स्वच्छता रैली से सबको प्रेरित कर रहे हैं और स्वच्छता की अलख जगा रहे हैं। कई ऐसे रेस्टोरेंट, होटल हैं जो प्लास्टिक मुक्त हो गए हैं और प्लास्टिक से हट उसके दूसरे विकल्प के साथ अब अपने व्यवसाय को जीरो वेस्ट व्यवसाय बना चुके हैं। कई ऐसे स्कूल हैं जहां मिड डे मील उपरांत बचे गीले कचरे से खाद बन रही है और वहीं खाद अब स्कूल के ही प्रांगड़ में लगी बागवानी के काम आ रही है।  इस स्वच्छता चैंपियन कार्यक्रम के माध्यम से उन सभी योद्धाओं की खोज शुरू होगी और 23 जनवरी को उनको नगर निगम द्वारा सम्मानित किया जायेगा। मेरी आप सभी से अपील है कि आप अपने वार्ड मे ऐसे उन सभी योद्धाओं की जानकारी जुटाए और नगर निगम को उनका नाम भेजें, निगम द्वारा एक कमेटी के माध्यम से प्रदान की गयी जानकारी की जांच कर उत्कृष्ट कार्य करने वालो को सम्मान दिया जाएगा। उन सभी को इस के साथ जोड़कर उनको सम्मानित करने मे हमारी मदद करें।

सभी नागरिकों को मिलकर देहरादून शहर को स्वच्छता में नंबर वन बनाना है : नगर आयुक्त

नगर आयुक्त मनुज गोयल ने कहा शहर के  प्रत्येक नागरिक को हमें स्वच्छता चैंपियन बनाना है। नगर को स्वच्छता की अग्रिम श्रेणियों में शुमार किया जाना है। स्वच्छता सर्वेक्षण 2023 के लिए भी सभी को साथ मिलकर काम करना है और इस बार देहरादून को नंबर वन बनाना है। देहरादून शहर हम सब का है और इसको स्वच्छ और सुंदर बनाए रखना भी हम सभी की जिम्मेदारी है।

इस कार्यक्रम में नगर आयुक्त, मनुज गोयल, सहायक नगर आयुक्त शांति प्रसाद जोशी, स्मार्ट सिटी, एम.डी.डी.ए., शहरी विकास निदेशालय, उत्तराखंड प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड , हडको के महाप्रबंधक संजय भार्गव, वेस्ट वॉरियर्स संस्था से नवीन कुमार सडाना तथा कई विभागों के प्रतिनिधि भी शामिल रहे।